Skip to content

RECENT BLOG ARTICLES

Sri Sri University

कोविद -19 के दौरान श्री श्री विश्वविद्यालय की भूमिका

May 18, 2020

By: Student Contributor, University Blog Team

कॉविड—19 पूरे देश के लिए एक अप्रत्याशित आपदा बनकर उभरा है। जहां इस आपदा ने मानव को क्षणभंगुरता का अहसास करवाया है वहीं इसी आपदा ने मानवीय सृजनात्मकता के अनेक दरवाजे खोले हैं। श्री श्री विश्वविद्यालय द्वारा इस आपदा के समय स्वयं के उद्धेशय लर्न,लीड,सर्व अर्थात सीखना, नेतृत्व करना व सेवा करना को यथार्थ् सिद्ध किया है। कॉविड 19 के दौरान विश्वविद्यालय द्वारा तकनीक के उपयोग द्वारा जनमानस को स्वास्थय संबंधी विभिन्न जानकारी पहुंचाई गई एवं शैक्षणिक योग्यता बढ़ाने हेतु लघु अवधि के अनेक शैक्षणिक कार्यक्रम भी चलाए हैं।

कॉविड—19 के दौरान श्री श्री विश्वविद्यालय ने द आर्ट आॅफ लिविंग के संस्थापक गुरूदेव श्री श्री रविशंकर जी से प्रेरित होकर लोगों को स्वास्थय के प्रति जागरूक करने की जिम्मेदारी ली है। श्री श्री विश्वविद्यालय द्वारा विभिन्न आॅनलाइन पलेटफार्मस पर शारीरिक, मानसिक, आध्यात्मिक स्वास्थय के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। श्री श्री विश्वविद्यालय के उप कुलपति द्वारा हैप्पिनेस एंड फुलफिलमेंट नाम से मैनेजमेंट डवेलपमेंट प्रोग्राम चलाया जा रहा है जिसमें देश के विभिन्न राज्यों से विद्यार्थी, प्रोफेशनल्स, टीचर्स भाग ले रहे हैं।  श्री श्री आयुर्वेदा अस्पताल द्वारा विभिन्न वेबीनार के माध्यम से आयुर्वेद व विभिन्न बीमारियों में आयुर्वेदिक उपचार आदि के बारे में भी जागरूकता प्रदान की गई है। इसके साथ साथ श्री श्री विश्वविद्यालय की विभिन्न आर्ट आॅफ लिविंग फैकल्टीज़ द्वारा आॅनलाइन ब्रेथ एंड मेडिटेशन वर्कशॉप, श्री श्री योग,8 से 13 साल के बच्चों के लिए उत्कर्ष योग, 14 साल से 18 साल तक के युवाओं के लिए मेधा योग—स्तर 1 एवं लड़कियों व महिलाओं के लिए मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता आदि विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। गौरतलब है कि श्री श्री विश्विद्यालय द्वारा विभिन्न समय अंतराल पर विद्यार्थियों, शिक्षकों व प्रोफेशनल्स के शारलिए।

सेवा

संकट के समय में राष्ट्र की सेवा करना प्रत्येक संस्था का कर्तव्य है। और यही बात शिक्षण संस्थानों पर भी लागू होती है। कॉविड—19 जैसी अप्रत्याशित स्थिति में समाज की मदद के लिए कुछ ऐसा ही कार्य कर रहा है श्री श्री विश्वविद्यालय। इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर ह्यूमन वैल्यूज़ (IAHV) के सहयोग व श्री श्री विशवविद्यालय के संस्थापक श्री श्री रविशंकर जी से प्रेरित होकर श्री श्री विश्वविद्यालय द्वारा आसपास के गांवों में जरूरतमंदों को राशन सामग्री वितरित करना शुरू कर दिया है।  प्रत्येक पैकेट में 4Kg चावल, 2 किलोग्राम दाल, 2 साबुन, 4 बिस्किट पैक शामिल हैं। अभी तक 5000 परिवारों तक राशन सामर्गी पहुंचाई जा चुकी है। इसके साथ साथ 2000 पैकेट कटक जिला प्र्शासन व 500 पैकेट उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर में भेजे जा चुके हैं। गौरतलब है कि श्री श्री विश्वविद्यालय के उद्वेशय लर्न, लीड व सर्व है, अर्थात सीखना, नेतृत्व करना व सेवा करना। केवल श्री श्री विश्वविद्यालय ही नहीं बल्कि संस्थान के वर्तमान छात्रों व पूर्व छात्रों द्वारा देश के विभिन्न राज्यों में राहत कार्य जोर शोर से चलाए जा रहे हैं।

श्री श्री विश्वविद्यालय ने कॉविड—19 के दौरान प्रोद्यौगिकी के सकारात्मक पहलू का लाभ उठाते हुए विद्यार्थियों को 100 प्रतिशत सिलेबस पूरा करवाया व इसके साथ साथ आॅनलाइन माध्यम से परीक्षा भी ली गई। इसके साथ साथ श्री श्री विश्वविद्यालय की विभिन्न फेकल्टीज द्वारा योग, साईंस, नृत्य, प्रबंधन, वास्तुकला में विभिन्न मैनेजमेंट व फैकल्टी डवेलपमेंट प्रोग्राम भी चलाए जा रहे हैं।

Share on facebook
Facebook
Share on linkedin
LinkedIn
Share on twitter
Twitter
Share on print
Print