Skip to content

RECENT BLOG ARTICLES

Poems

श्री गुरु शरण में आ जा रे

Jan 14, 2020

लेखक: अरुण कुमार मिश्र, ग्राफ़िक् डिज़ाइनर, एडमिशन एवं प्रोमोशन्स विभाग, श्री श्री विश्व विद्यालय

श्री गुरु शरण में आ जा रे

श्री गुरु शरण में आ जा रे  ।०।

संशय मिटेंगे तेरे

दुःख भी हटेंगे सारे

इतनी खुशि मिलेगी

मन तो झुमेगा प्यारे …

श्री गुरु शरण में आ जा रे  ।१।

जो भी पीछे हो गया है

और जो आगे होना है

कुछ नहीं हाथ तेरे

फिर सोचना क्या रे …

श्री गुरु शरण में आ जा रे  ।२।

क्यों कहे तु मेरा मेरा

कुछ भी नहीं है तेरा

माया है, यहीं रहेगा

साथ किधर जाए रे …

श्री गुरु शरण में आ जा रे  ।३।

दुःख सुख आते जाते

जोड़ न इनसे नाते

नाता रख श्री गुरु से

तुझे वे ही संभालें रे …

श्री गुरु शरण में आ जा रे  ।४।

Share on facebook
Facebook
Share on linkedin
LinkedIn
Share on twitter
Twitter
Share on print
Print